Ayurvedicbenifits

Ash Gourd in Hindi, Ash Gourd Benefits, Uses, Side Effects, and Nutrition Value

Ash Gourd in Hindi

Ash Gourd in Hindi:- दोस्तों आपने मीठा पेठा तो जरूर खाया होगा। Ash Gourd से तैयार पेठे को आगरा का पेठा और सफ़ेद पेठे के नाम से भी जाना जाता है। क्या आपको पता है की जितना पेठा खाने में स्वादिष्ट होता है ये उतना ही सेहत के लिए फायदा पहुंचाता है। जी हाँ दोस्तों इसके सेवन से शरीर की कई प्रकार की अंदरूनी बीमारी को भी ठीक किया जा सकता है। तो आईये चलते है इसकी पूरी जानकारी की तरफ:-

What is Ash Gourd in Hindi सफ़ेद पेठा क्या होता है?

Ash Gourd दिखने में गोल तरबूज की तरह होता है जिसके ऊपर सफ़ेद रंग की परत होती है जो राख की तरह दिखाई देती है इसलिए इसका नाम ash gourd रखा गया है। इसके ऊपर पाया जाने वाला सफ़ेद पदार्थ थोड़ा चिपचिपा और वैक्स की तरह होता है इसलिए इसे वैक्स गार्ड भी कहा जाता है। Ash Gourd को बहुत सारे सफ़ेद पेठा, पेठा, कुष्मांड या कूष्मांड का फल पेठा, भतुआ, कोंहड़ा, कुम्हड़ा अन्य नामो से भी जाना जाता है।

ash gourd की ज्यादातर खेती भारत सहित दक्षिण – पूर्वी एशिया देशो में की जाती है। यह बेल पर लगने वाला फल है जिसे सब्जी की तरह भी खाया जाता है। आकार में बहुत बड़ा होने के कारण इसकी तुलना तरबूज से की जाती है। इसका वैज्ञानिक नाम ‘बेनिनकेसा हिस्पिडा’ (Benincasa hispida) है।

Nutrition से भरपूर सफ़ेद कद्दू को डाइट में शामिल करने से हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है।

6 Best Homemade Immunity Booster Drink

Nutrition Value of Ash Gourd in Hindi – गुणों से भरपूर राख लौकी

इसके फल में पानी के अलावा स्टार्च, क्षार तत्व, प्रोटीन, मायोसिन शुगर, टैरी रेजिन आदि तत्व मौजूद होते हैं। ash gourd में 97प्रतिशत तक पानी पाया जाता है जिसमे बहुत सारे मिनरल पाए जाते है। अत्यधिक शीतल होने के कारण इसे Winter Melon(ठंडा तरबूज) के नाम से भी जाना जाता है।

100 ग्राम Ash Gourd में कितने पोषक तत्व होते है ?

Nutritional value Per 100 gram
Water 96.5%
Protein 0.6gm
Fat (ether extract)0.1gm
Carbohydrate 4.4gm
Minerals 0.4gm
Calcium 0.1gm
Phosphorus 0.3%
 Iron 0.5mg/100g
Vitamin C17 mg
Nutrition Value of Ash Gourd

Benefits of Ash Gourd in Hindi – राख लौकी के स्वास्थ्य लाभ

वजन घटाने में तेजी लाता है Accelerates Weight Loss

लौकी, कैलोरी में कम और आवश्यक पोषक तत्वों में उच्च होने के कारण, उन लोगों द्वारा नियमित रूप से उपयोग लिया जा सकता है जो वजन कम करने के लिए कम खाना शुरू कर रहे हैं, खासकर शुगर वाले लोगों के मामले में। ash gourd में फाइबर भी अधिक मात्रा में पाया जाता है जिसे पेट में आसानी से पचने के लिए उपयोग किया जा सकता है, जिससे व्यक्ति लंबे समय तक भरा हुआ महसूस करता है। भूख कम लगने के साथ Fat को burn करने में मदद करता है।

ऑगमेंट्स हार्ट फंक्शन Augments Heart Function

Ash Gourd में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ना होने के कारण, हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए नियमित रूप से आहार में लौकी का सेवन सुरक्षित रूप से किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल उबाल कर हलवा या सब्जी के रूप में बनाकर खाया जा सकता है। यह हृदय की मांसपेशियों को मजबूत करके ह्रदय से रक्त संचार में सुधार करता है।

किडनी को डिटॉक्सीफाई करता है Detox your kidney

राख लौकी शरीर में उत्सर्जन प्रणाली को सुचारु रूप से काम करने में मदद करता है। यह गुर्दे के भीतर तरल पदार्थों के स्राव को बढ़ाता है, Body में मौजूद विषाक्त (Toxins) पदार्थों से तुरंत छुटकारा दिलाता है और साथ ही, शरीर के अंदरूनी अंगों में Hydration की गारंटी देता है। लौकी का रस गुर्दे और मूत्राशय के नियमित कार्यों को सुलभ बनाता है।

पाचन तंत्र को बढ़ाता है Increase the Digestive System

लौकी में एक महत्वपूर्ण फाइबर सामग्री होती है, जो भारी भोजन करने पर कब्ज, सूजन और पेट में ऐंठन को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा, इसकी प्रकृति मल त्याग को नियंत्रित करती है, जिससे आंत में किसी भी तरह की परेशानी का अनुभव नहीं होता है।

ash gourd benefits

श्वसन प्रक्रियाओं को मजबूत करता है Strong Breathing System

ऐश लौकी में एक आंतरिक एक्सपेक्टोरेंट गुण होता है, जिसका अर्थ है कि यह किसी भी अतिरिक्त कफ या बलगम स्राव को आसानी से श्वसन पथ से हटा सकता है। यह फेफड़ों के कार्य को अत्यधिक लाभ पहुंचाता है और किसी भी एलर्जी और सांस लेने में कठिनाई को भी रोकता है।

केटोजेनिक आहार Help in Keto Diet

बिना स्टार्च वाली सब्जियां सभी कीटो डाइट में लगातार शामिल होती हैं। इस वजह से, ऐश लौकी में कार्बोहाइड्रेट और शर्करा कम होने के कारण, Keto Diet का महत्वपूर्ण हिस्सा हो सकता है जो carbs को कम करके कैलोरी की मात्रा को कम करने में मदद करता है। दोपहर के भोजन के लिए कीटो Diet में कटी हुई पेठे की सब्जी को उबालकर नमक और काली मिर्च के साथ मसाला डालकर एक सरल झटपट रेसिपी शामिल की जा सकती है।

त्वचा और बालों के लिए ऐश लौकी Skin and Hair Uses

त्वचा को प्राकृतिक रूप से मॉइस्चराइज़ करता है। लौकी में स्मूथिंग करने वाला विटामिन ई होता है, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। सब्जी से जेल का अर्क, जब सनबर्न और चकत्ते पर लगाया जाता है, तो त्वचा के उभरे हुए और सूखे क्षेत्रों को नरम और पूरी तरह से नमीयुक्त छोड़ देता है।

त्वचा के संक्रमण से लड़ता है Protect From Effective Skin

लौकी के पत्तों से प्राप्त अवशेषों में कसैले गुण होते हैं। यह त्वचा पर अत्यधिक सूजन वाले धब्बों को बेअसर करने में मदद करता है। यह एलर्जी, फंगल संक्रमण, पर्यावरण प्रदूषक और सूरज की किरणों से Effected Skin पर किसी भी फोड़े, मवाद या कार्बुन्स को कुशलता से कम करता है।

बालों के विकास को बढ़ावा देता है Improvement in Hair Growth

लौकी में भरपूर मात्रा में विटामिन और खनिज होते हैं जो बालों को पोषण और मजबूती प्रदान करते हैं। इसके अलावा, जब एक जेल के रूप में लगाया जाता है, तो यह खोपड़ी की परतों में गहराई से प्रवेश करता है और Scalp की रक्षा करता है, जिससे बालों की मोटाई और स्थिरता बनी रहती है। अगर आप लंबे और मजबूत बाल पाना चाहते हैं तो लौकी एक आदर्श विकल्प है।

अत्यधिक रूसी से निपटता है Protect From Dendruf

लौकी में शक्तिशाली रसायन होते हैं जो बालों की खोपड़ी पर रूसी और डेंड्रफ की समस्या को कम कर सकते हैं। यह बालों के Sclap को गंदगी और कवक कणों से बचाता है जो रूसी को ट्रिगर करता हैं। लौकी का जेल, जब नियमित रूप से खुजली और रूखी खोपड़ी और सूखे बालों पर लगाया जाता है, तो यह सुस्त बालों में काफी सुधार कर सकता है, जिससे यह एक अविश्वसनीय चमक देता है।

ऐश लौकी हेयर जेल Ash Gourd Hair Gel

लौकी में मॉइस्चराइजिंग और एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो एक बाम के रूप में कार्य करता है, चिड़चिड़ी खोपड़ी को शांत करता है और रूसी को खत्म करता है। जब महीने में एक बार उपयोग किया जाता है, तो यह सरल लेकिन अत्यधिक प्रभावी हेयर जेल खोपड़ी को झड़ने से रोकता है और पोषित और चमकदार बाल सुनिश्चित करता है।

इसे भी पढ़े:- सेब के 7 जबरदस्त हैरान करने वाले फायदे

दिल की बीमारियां का उपचार Treatment of Heart Diseases

लौकी का अर्क दिल की बीमारियों जैसे कि अनियमित दिल की धड़कन, सीने में दर्द, उच्च रक्तचाप और कोरोनरी हृदय रोग के लिए सबसे अच्छे उपचारों में से एक माना जाता है। पारंपरिक भारतीय चिकित्सा में, Blood Circulation को बढ़ावा देने और कठिनाइयों को दूर करने के लिए हृदय की समस्याओं से पीड़ित लोगों को दो कप लौकी का जूस स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहता है।

Uses of Ash Gourd in Hindi – ऐश गॉर्ड के उपयोग

  • Ash Gourd का जेल बनाकर चेहरे पर उपयोग में लाया जा सकता है।
  • राख़ लौकी के सफ़ेद गुदा का जूस निकालकर रोजाना सुबह खाली पेट सेवन कर सकते है।
  • दोपहर के भोजन में सलाद के रूप उपयोग में ले सकते है।
  • सफ़ेद पेठे की मिठाई जिसे आगरे का पेठा के नाम से भी जाना जाता है।

Side Effects of Ash Gourd in Hindi – ऐश लौकी के नुकसान

  • लौकी को हमेशा अपने स्थानीय बाजार या स्टोर से ही खरीदें। क्योंकि पुराने स्टॉक में कुछ संक्रामक एजेंट और कीटनाशक अवशेष मौजूद हो सकते हैं।
  • ऐश लौकी में कई महत्वपूर्ण ट्रेस मिनरल होते हैं। इसलिए, अत्यधिक खपत हानिकारक है, क्योंकि इससे सिस्टम में जमा होने वाले इन धात्विक तत्वों का विषाक्त स्तर हो सकता है।
  • गंभीर बुखार और शरीर के तापमान में उच्च उतार-चढ़ाव वाले मरीजों को शरीर ठंडा प्रभाव के कारण ऐश लौकी का सेवन करने से बचना चाहिए, जो उपचार प्रक्रियाओं को धीमा कर सकता है।